CLASS 12 ALL SUBJECT QUESTION BANK DOWNLOAD 2022

ALL SUBJECT QUESTION BANK DOWNLOAD CLASS 12 दोस्तों आज हम आपको इस वेबसाइट पर कक्षा 12 के सभी विषय के प्रशन बैंक QUESTION BANK उपलब्ध कराएँगे | आप बने रहे हमारे साथ और इस सुभिधा का लाभ उठाये | अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगे तो LIKE, SHARE जरुर करे |  HINDI QUESTION BANK – …

CLASS 12 ALL SUBJECT QUESTION BANK DOWNLOAD 2022 Read More »

रूस और आस्ट्रेलिया में जनसंख्या का वितरण | जनसंख्या वृद्धि का विकास पर प्रभाव

आस्ट्रेलिया में जनसंख्या का वितरण  आस्ट्रेलिया में जनसंख्या अन्य महाद्वीपों की अपेक्षा कम है। आस्ट्रेलिया-ओशेनिया महाद्वीप की जनसंख्य 3,99,01,355 है, यहाँ विश्व की केवल 1% जनसंख्या निवास करती है। जो मुख्यतः तटीय प्रदेशों में ही केन्द्रित पाई जाती है। विशेषतः दक्षिणी-पश्चिमी कोने और दक्षिणी-पूर्वी किनारों पर जहाँ जलवायु अधिक समशीतोष्ण है। यहाँ जनसंख्या के पाँच …

रूस और आस्ट्रेलिया में जनसंख्या का वितरण | जनसंख्या वृद्धि का विकास पर प्रभाव Read More »

यूरोप में जनसंख्या का वितरण | एशिया में जनसंख्या का वितरण | दक्षिण अमेरिका में जनसंख्या का वितरण

यूरोप में जनसंख्या का वितरण यूरोप में जनसंख्या का जमाव मुख्यतः 40 और 60 डिग्री  उत्तरी अक्षांशों के बीच पाया जाता है। इन अक्षांशों के उत्तर में जनसंख्या बहुत ही बिखरी हुई मिलती है। केवल नावें, स्वीडन और फिनलैण्ड के समुद्रतटीय भाग इसके अपवाद स्वरूप हैं। यूरोप की 23% जनसंख्या का एक ठोस क्षेत्र है …

यूरोप में जनसंख्या का वितरण | एशिया में जनसंख्या का वितरण | दक्षिण अमेरिका में जनसंख्या का वितरण Read More »

विश्व जनसख्या | विश्व जनसंख्या का वितरण, घनत्व एवं वृद्धि

विश्व जनसख्या CONTENTS विश्व जनसंख्या का वितरण, घनत्व एवं वृद्धि जनसंख्या परिवर्तन, विशिष्ट प्रतिरूप, संरचना, जनसंख्या वितरण के घटक आयु, लिंग अनुपात, ग्रामीण एवं शहरी संरचना मानव विकासअवधारणा, प्रमुख संकेतक,   विश्व के बसे और बिना क्षेत्र जनसंख्या की दृष्टि से धरातल पर दो विशिष्ट क्षेत्र पाए जाते हैं= (i) बसे हुए क्षेत्र और (i) बगैर …

विश्व जनसख्या | विश्व जनसंख्या का वितरण, घनत्व एवं वृद्धि Read More »

मानव भूगोल प्रकृति एवं विषय क्षेत्र |

मानव भूगोल प्रकृति एवं विषय क्षेत्र | मानव भूगोल की प्रकृति

मानव भूगोल प्रकृति एवं विषय क्षेत्र पाठ्यक्रम मानव भूगोल का परिचय  मानव भूगोल की प्रकृति मानव भूगोल के विषय क्षेत्र मानव भूगोल का परिचय मानव भूगोल में मानव का पृथ्वी पर केन्द्रीय स्थान है क्योंकि वही अपने प्राकृतिक वातावरण में परिवर्तन करके सांस्कृतिक वातावरण की रचना करता है। इस संबंध में उसकी समस्त आकार की समस्याओं और क्रियाओं का अध्ययन …

मानव भूगोल प्रकृति एवं विषय क्षेत्र | मानव भूगोल की प्रकृति Read More »

पादप वृद्धि की प्रावस्थायें

पादप वृद्धि एवं परिवर्धन | biology notes in hindi

पादप वृद्धि एवं परिवर्धन वृद्धि सभी जीवधारियों का लाक्षणिक विशेषताएं है | वृद्धि एक जैविक प्रक्रिया है, जो कि किसी पादप तथा उसके भागों में स्थायी व एक दिशीय परिवर्तन लाता है। वृद्धि सफल उपापचय का अंतिम उत्पाद है, अर्थात्‌ वृद्धि के उपरांत उपचयी क्रियाएं, अपचयी क्रियाओं से अधिक प्रभावी होती हें। पादप में वृद्धि …

पादप वृद्धि एवं परिवर्धन | biology notes in hindi Read More »

वंशागति तथा विविधता के सिधान्त

वंशागति तथा विविधता के सिधान्त | Best Notes Pdf

वंशागति तथा विविधता के सिधान्त परिचय (introduction) आनुवंशिकी जीव विज्ञान की एक शाखा है जिसके अन्तर्गत वंशागति (प्रथा) तथा विभिन्‍नताऐं  दोनों का सम्मिलित अध्ययन किया जाता है। आनुवंशिकी शब्द डब्ल्यू. बेटनन ( आधुनिक आनुवांशिकी के जनक ) ने प्रस्तुत किया। आनुवंशिकता जनक से संतति में आनुवंशिक लक्षणों का स्थानांतरण है।  वंशागति वह प्रक्रम है जिससे …

वंशागति तथा विविधता के सिधान्त | Best Notes Pdf Read More »

यन्त्रिक विधियाँ | स्थायी विधियों |

यन्त्रिक विधियाँ | स्थायी विधियों | गर्भावस्‍था का चिकित्सीय समापन | यौन संचारित रोग |

यन्त्रिक विधियाँ यन्त्रिक विधियों के अंतर्गत रोधक साधनों के माध्यम से अंडाणु और शुक्राणु को भोतिक रूप से मिलने से रोका जाता है। इस प्रकार के उपाय पुरुष एवं स्त्री, दोनों के लिए उपलब्ध हें। यन्त्रिक विधियाँ निम्न प्रकार की हैंकंडोम, डायाफ्रॉम, गर्भाशय ग्रीवा टोपी, वाल्ट और अन्तः गर्भाशय युक्त कंडोम ( निरोध ) को …

यन्त्रिक विधियाँ | स्थायी विधियों | गर्भावस्‍था का चिकित्सीय समापन | यौन संचारित रोग | Read More »

स्त्री बाहरी जननांग | युग्मक जनन | आर्तव चक्र

स्त्री बाहरी जननांग स्त्री के बाहय जननेंद्रिय के अंतर्गत जघन शैल वहद्‌ भगोष्ठ, लघु भगोष्ठ , योनिच्छद ‘(ज़ाशा) ओर भगशेफ शामिल हैं। योनि योनि मादा में पाया जाने वाला नलिकाकार मैथुनांग होने के साथ ही यह मेन्स्ट्रअल द्रव्य को बाहर निकालने तथा प्रसव के लिये मार्ग प्रदान करता है। यह लम्बाई में लगभग 10 सेमी. …

स्त्री बाहरी जननांग | युग्मक जनन | आर्तव चक्र Read More »

निषेचन एवं भ्रूण विकास

निषेचन एवं भ्रूण विकास निषेचन शुक्राणु के साथ एक अंडाणु के संलयन की प्रक्रिया को निषेचन कहते हैं। निषेचन केवल तभी होता है, यदि अण्डाशय से अवमुक्त डिम्ब, डिम्ब वाहिनी के एम्पुलरी-इस्थमिक जंक्शन तक पहुँचता है तथा योनि में अवमुक्त हुआ शुक्राणु गर्भाशय ग्रीवा व गर्भाशय से होता हुआ यहाँ पहुँचता है। निषेचन द्वितीय अण्डक …

निषेचन एवं भ्रूण विकास Read More »